अखिलेख जब यूपी के सीएम थे, भाभी अर्पणा के NGO को मिली इतनी बड़ी सहायता..


उत्तरप्रदेश में 2012 से 2017 के बीच समाजवादी पार्टी की सरकार ने गौशालाओं को मिलने वाले सरकारी आवंटन का 86 फीसदी केवल पूर्व सीएम अखिलेश यादव की भाभी अपर्णा यादव के एनजीओ को दिया। 

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यह खुलासा RTI में दिए गए एक जवाब में हुआ है। राज्य में अखिलेश यादव के कार्यकाल के दौरान, गौसेवा आयोग से मिलने वाले गौशाला फंड्स का बड़ा हिस्सा अपर्णा याजव के एनजीओ जीव आश्रय (NGO Jeev Ashray) को गया है। यह संस्था अमौसी इलाके के पास स्थित कान्हा उपवन गौशाला (Kanha Upvan Goshala) के संचालन का काम देखती है। 

बीते पांच साल में गौसेवा आयोग ने कुल 9.66 करोड़ रुपए का आवंटन विभिन्न संस्थाओं को किया, जिसमें से 8.35 सिर्फ मुलायम सिंह यादव के दूसरे बेटे प्रतीक यादव की पत्नी अपर्णा यादव के एनजीओ को मिले।

मीडिया रिपोर्ट्स में बताया गया है कि एनजीओ जीव आश्रय को वित्त वर्ष 2012-13 में 50 लाख, 2013-14 में 1.25 करोड़ और 2014-15 में 1.41 करोड़ रुपए गौसेवा आयोग ने आवंटित किए गए। इसी तरह वित्त वर्ष 2015-16 में 2.58 करोड़ रुपए और 2016-17 में 2.55 करोड़ और, एनजीओ जीव आश्रय को आवंटित किए गए थे। आरटीआई में सामने आया है कि मौजूदा वित्त वर्ष (2017-18) में विभिन्न गौशालाओं को 1.05 करोड़ रुपए आवंटित किए गए जबकि जीव आश्रय को अभी तक कोई राशि आवंटित नहीं की गई है। टाइम्स की खबर के अनुसार, सोशल ऐक्टिविस्ट नूतन ठाकुर द्वारा दायर की गई आरटीआई में यह खुलासा हुआ है।

दूसरी तरफ अर्पणा यादव ने इस मामले में कुछ भी गलत नहीं होने की बात कही है। अर्पणा ने कहा कि उनकी संस्था जीवों के कल्याण के लिए अच्छा काम कर रही है। ऐसे में ये आवंटन गलत नहीं है। 

Share on Google Plus

About NGO DARPAN

0 comments:

Post a Comment