महिला से साथ भेदभाव: एनसीएसटी ने गोल्फ क्लब को दिया नोटिस

राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति आयोग (एनसीएसटी) ने आज पूर्वोत्तर की महिला से साथ भेदभाव की शिकायत पर गोल्फ क्लब को नोटिस जारी किया है। 

महिला पूर्वोत्तर में अनुसूचित जनजाति से संबंध महिला रखती है। एनसीएसटी ने क्लब से सात दिनों के भीतर इस नोटिस का उत्तर देने और मामले से जुड़े तथ्यों और जानकारी देने के लिए कहा है। साथ ही यह भी कहा है कि गोल्फ क्लब बताए कि इस मामले में उसने क्या कार्रवाई की।

मेघालय राज्य महिला आयोग के अध्यक्ष और असम सिविल सोसायटी ने एनसीएसटी को ज्ञापन दिया था। इसके बाद आयोग ने यह भी निर्णय किया है कि वह भारतीय संविधान के अनुच्छेद 338ए द्वारा उसे प्रदान की गई शक्तियों के अनुसरण में मामले की जांच एवं पूछताछ करेगा। 

नोटिस में कहा गया है कि अगर आयोग को निर्धारित समयसीमा में क्लब का जवाब नहीं मिलता है तो वह संविधान के अनुच्छेद 338ए की धारा के तहत सिविल कोर्ट की शक्तियों का इस्तेमाल कर सकता है और इसके तहत क्लब के अधिकारियों को व्यक्तिगत तौर पर आयोग के समक्ष पेश होने का समन जारी कर सकता है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों मेघालय की एक बुजुर्ग महिला से दिल्ली गोल्फ क्लब में अपमानजनक व्यवहार करने का मामला सामने अाया है। रविवार को मेघालय की तैलिन लिंगदोह दिल्ली गोल्फ क्लब में अपनी पारंपरिक ड्रेस जैनसेम पहनकर डिनर करने गई थीं, जहां डिनर करने के दाैरान एक व्यक्ति वहां आया और उनसे डाइनिंग हॉल से बाहर निकलने काे कहा। इस दौरान इस व्यक्ति् ने इस महिला को यहां तक कह दिया कि ये जगह नौकरानियों के लिए नहीं हैं। इसको लेकर देशभर के कई एनजीओ ने भी विरोध जताया है। 
Share on Google Plus

About NGO DARPAN

0 comments:

Post a Comment